खूबसूरत, सदाबहार और सर्वजीवी संसार बनाने का संकल्प ही भगवान विश्वकर्मा की सच्ची आराधना हैं
हमारी पौराणिक मान्यताओं और धार्मिक विश्वासों के अनुसार भगवान विश्वकर्मा को इस बसुन्धरा का प्रथम अभियंता माना जाता हैं। भगवान विश्वकर्मा ने अपनी अद्वितीय अभियांत्रिकी प्रतिभा से एक ऐसी खूबसूरत दुनिया बनाई जिसमें छोटे-मोटे कीडे-मकोड़े से लेकर  विशालकाय नीली ह्वेल जैसे स्तनपायी आनंद के साथ जीवन जीते है…
Image
किसी राष्ट्र के वास्तविक निर्माता उस देश के शिक्षक होते हैं!
शिक्षक दिवस पर विशेष लेख :- (1) सर्वपल्ली डा. राधाकृष्णन एवं शिक्षक दिवस :- 5 सितम्बर को एक बार फिर से सारा देश भारत के पूर्व राष्ट्रपति सर्वपल्ली डा. राधाकृष्णन के जन्मदिवस को ‘शिक्षक दिवस’ के रूप में मनाने जा रहा है। हम सभी जानते हैं कि किसी भी राष्ट्र की प्रगति उनके नागरिकों पर निर्भर होती है…
Image
पवित्र ‘‘गीता’भी को कर्तव्य एवं न्याय के मार्ग पर चलने की सीख देती है
19 अगस्त - जन्माष्टमी पर्व की हार्दिक बधाइयाँ (1) पवित्र ‘‘गीता’में कर्तव्य एवं न्याय के मार्ग पर चलने की सीख देती है :- श्रावण कृष्ण अष्टमी पर जन्माष्टमी का पावन त्यौहार बड़ी ही श्रद्धापूर्वक मनाया जाता है। आज से पाँच हजार वर्ष पूर्व इसी दिन भगवान श्रीकृष्ण का जन्म मथुरा की जेल में हुआ था। कर्षति आ…
Image
स्वावलंबी, समृद्ध और शक्तिशाली भारत बनाने की संकल्पना का पर्व है स्वाधीनता दिवस : मनोज कुमार सिंह
आज जम्बू कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक तथा कच्छ से लेकर कटचल तक सारे भेद-भाव मिटाकर, सम्पूर्ण संकीर्णताओं का परित्याग कर पूरा देश आजादी का अमृत महोत्सव पूरे  जोश-ओ-खरोश, हर्ष, उल्लास, उत्साह, आशा, विश्वास और उम्मीद के साथ मना रहा है। भारतीय इतिहास का यह सुनहरा अवसर लगभग दो सौ वर्षों के यातनापूर्ण स…
Image
भारत ही विश्व में एकता और शान्ति स्थापित करेगा
15 अगस्त ‘‘स्वतंत्रता दिवस‘‘ के अमृत महोत्सव पर हार्दिक बधाइयाँ! (1) हम लाये हैं तूफान से किश्ती निकाल के, इस देश को रखना मेरे बच्चों सम्भाल के :- विश्व के सबसे बड़े लोकतांत्रिक देश भारत की आजादी के 75 वर्ष पूरे होने की खुशी में वर्ष 2022 को अमृत महोत्सव के रूप में पूरे देश में अभूतपूर्व उत्साह, जोश…
Image
कश्मीर : द ब्लीडिंग ब्यूटी
यह कहना कि इन दिनों कश्मीर फिर चर्चा में है, उतना ही सतही एवं ग़लत है जितना कि इलैक्ट्रोनिक और प्रिंट मीडिया में अथवा विभिन्न मंचों से इस जटिल समस्या को लेकर व्यक्त किये जाने वाले अधिकांश व्यक्तियों के विचार ! स्वतंत्र भारत के विगत लगभग साढ़े सात दशकों में कश्मीर तो हमेशा ही सुर्खियों में रहा है - …
Image
21वीं सदी में सारे विश्व में युवा शक्ति के अभूतपूर्व जागरण की शुरूआत हो चुकी है!
अन्तर्राष्ट्रीय युवा दिवस (12 अगस्त) पर हार्दिक बधाइयाँ (1) संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा अन्तर्राष्ट्रीय युवा दिवस मनाने की घोषणा :-  संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा युवा पीढ़ी को आज के युग के ज्ञान तथा बुद्धिमत्ता से जोड़ने के लिए प्रतिवर्ष 12 अगस्त को अन्तर्राष्ट्रीय युवा दिवस मनाने की घोषणा की गयी है। य…
Image
बिना किसी भेदभाव के सम्पूर्ण मानवजाति की सेवा करना ही धर्म है!
(1) भारत जैसी एकता की मिसाल विश्व के किसी अन्य देश में नहीं पायी जाती :-  भारतीय संस्कृति व सभ्यता विश्व की सर्वाधिक प्राचीन एवं समृद्ध संस्कृति व सभ्यता है। इसे विश्व की सभी संस्कृतियों की जननी कहा जाता है। भारत ‘अनेकता में एकता’ के सूत्रपात से बंधा एक ऐसा देश है, जहाँ लगभग 1400 बोलियों तथा औपचारि…
Image
यदि पृथ्वी को बचाना है तो पर्यावरण को बचाना होगा : डॉ0 गणेश पाठक
28 जुलाई को "विश्व प्रकृति संरक्षण दिवस" पर विशे ष - बलिया। पृथ्वी को बचाने के लिए प्रकृति के साथ अर्थात् पर्यावरण एवं पारिस्थितिकी के कारकों के साथ सद्भाव बनाए रखते हुए उन्हें सुरक्षित एवं संरक्षित रखना है ताकि हमारी एक मात्र पृथ्वी भी सुरक्षित एवं संरक्षित रह सके।  उक्त बातें अमरनाथ मिश…
Image
विकृत और बदरंग होती जा रही है विवाह की मौलिक मान्यताएं और परम्पराएं : गौरव सिंह राठौर
लोभ लालच और बुलेट ट्रेन की रफ्तार से बढती धनलिप्सा ने शादी- व्याह जैसे पवित्र प्रणय और परिणय मिलन के मौलिक, पुरातन और सनातनीय स्वरूप को बुरी तरह बदरंग, वीभत्स और विकृत कर दिया हैं। इसको विकृत और बदरंग करने में लूट-खसोट, दलाली, भ्रष्टाचार और और कमीशनखोरी की कमाई की बदौलत नये-नये दौलतमंद बने समाज के …
Image
हमें अपने मन की नहीं, बल्कि प्रभु के मन की करनी चाहिए, प्रभु की इच्छा सारी वसुधा को कुटुम्ब बनाने की है
(1) परमात्मा ने कृष्ण को संसार में  क्यों भेजा? जब मनुष्यों के जीवन में निपट भौतिकता बढ़ जाने के कारण अन्याय की भावना प्रवेश कर गई और मानव जीवन दुःखी हो गया तब दयालु परम पिता परमात्मा ने न्याय आधारित मानव समाज बनाने के लिए धरती पर भगवान कृष्ण को भेजा। राजा यदि खुद ही अन्यायी हो तो सारा समाज अन्यायी…
Image
आज़ाद ख्य़ाल सीनों में धड़कते रहेंगे चन्द्रशेखर आज़ाद
आखिरी सांस तक स्वाधीनता के लिए संघर्ष करने वाले, महान क्रांतिकारी, मुकम्मल आजादी के प्रबल पक्षधर, हिन्दुस्तान रिपब्लिकन एसोसिएशन के कमांडर चन्द्र शेखर आजाद आज भी उन सीनो में धड़कते -फडकते है जिनमें शोषण, भ्रष्टाचार, अन्याय और अत्याचार पर आधारित शासन व्यवस्थाओं से संघर्ष करने का संकल्प, साहस और पराक्…
Image
अपने कमाल, करतब और करिश्मे से बेटियां ही कर सकती हैं दहेज का अंतिम संस्कार : मनोज कुमार सिंह
आदिम, असभ्य, बर्बर और अनपढ़ जीवन से सभ्य, सुसंस्कृत और सुशिक्षित जीवन के विकास क्रम में और चरण-दर-चरण सभ्यता की ओर उत्तरोत्तर डग भरते हुए मनुष्य ने किसी पंडाॅव पर यौन अराजकता को रोकने और स्त्री-पुरुष संबंधों में स्थिरता, सुनिश्चितता, स्थायित्व और अनुशासन लाने तथा सुनिश्चित दंपत्तियों द्वारा उत्पन्न …
Image