कद है 3 फुट 3 इंच का लेकिन पद है बहुत ऊंचा, मेहनत और लगन से बनी आईएएस, जानें आरती डोगरा की कहानी
कई लोग अपने रंग रूप और कद काठी को लेकर बहुत चिंतित रहते हैं। उन्हें लगता है कि ज़िन्दगी में कुछ बनने के लिए अच्छा दिखना, अच्छी हाइट होना और साफ़ रंग होना बहुत ज़रूरी होता है, पर ये बात सही नहीं है। इंसान का कद काठी, रंग रूप चाहे कैसा भी हो, अगर कुछ कर दिखाने का जज़्बा मन में जगा लिया जाए तो हर राह आस…
Image
16 फ्रैक्चर और 8 सर्जरी के बाद भी नहीं टूटा हौसला, झुग्गी में पली-बढ़ी लड़की ऐसे बनी आईएएस, पढ़ें संघर्ष की कहानी
राजस्थान के पाली की रहने वाली उम्मुल खेर (Ummul Kher) बचपन से ही विकलांग थीं, लेकिन उन्होंने कभी भी इसे अपनी सफलता में रुकावट नहीं बनने दी और यूपीएससी परीक्षा (UPSC Exam) पास कर आईएएस अफसर बनीं. कहते हैं कि अगर दिल में चाहत हो तो हम कोई भी मुकाम हासिल किया जा सकता है और कुछ ऐसा ही राजस्थान के पाली …
Image
यूपी के इस परिवार में हैं चार आईएएस-आईपीएस, पिता को होता है गर्व
उत्तर प्रदेश में एक ही परिवार के चार बच्चे सिविल सर्वेंट हैं। उनके पिता को आज अपने सभी बच्चों पर गर्व होता है और वह अपने संघर्ष के दिनों को याद करते हैं। UPSC क्लियर कर आईएएस या आईपीएस अधिकारी बनना हर पढ़े-लिखे युवा का सपना होता है। आज हम आपको उत्तर प्रदेश के ऐसे परिवार की कहानी बताएंगे जिसमें एक…
Image
खुद चौथी पास इंसान ने अपने घर को बनाया अफसरों का घराना, परिवार के 11 सदस्य बने IAS और IPS
हमारे देश भारत में ऐसे परिवार भी रहते हैं, जिनकी कहानी सुनकर आप आश्चर्यचकित रह जाएंगे। यहां हम आपको बताने वाले है, हरियाणा के जींद जिले में रहने वाले एक परिवार के विषय में जिनमें IAS और IPS समेत 11 फर्स्ट क्लास ऑफिसर मौजूद हैं। इस गौरवतल परिवार के सफलता के पीछे एक ऐसे व्यक्ति का हाथ है, जो स्वयं चौ…
Image
बिहार के सरकारी स्कूल से पढ़ने वाली बिहार की बेटी अमेरिका में बनी वैज्ञानिक जानिए पूरी कहानी
पटना।  आज पूरे भारत सहित बिहार में प्राइवेट स्कूलों का बोलबाला है लोग अपनी क्षमता से अधिक फीस दे रहे हैं ताकि उनके बच्चे बेहतर तरीके से पठन-पाठन कर सके और अपना भविष्य उज्जवल बना सके इसके साथ-साथ बिहार सहित पूरे देश में सरकारी स्कूल और सरकारी शिक्षा को लेकर ऐसी छवि बनाई गई है सरकारी स्कूलों की केवल …
Image
देश की पहली नेत्रहीन महिला आईएएस, प्रांजल पाटिल का सफर है बेहद दिलचस्प…
दिलचस्प बात यह भी है कि प्रांजल ने सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी के लिए कोई कोचिंग नहीं लेने का फैसला किया था। जन्म के बाद से ही प्रांजल पाटिल की आंखों की रोशनी कमजोर थी। जब वो महज 6 साल की थीं तब उनकी आंखों की रोशनी पूरी तरह से चली गई। कम उम्र में प्रांजल की आंखों के सामने अंधेरा जरुर हो गया लेकि…
Image
मोदी के मंत्री के काफिले को मंदिर में जाने से रोका, बहस हुई तब दिया था करारा जवाब; जानिए कौन हैं साहसी आईपीएस अफसर यतीश चंद्र
आईपीएस ने केंद्रीय मंत्री से कहा कि 'अगर मैं सबको इसी तरह अनुमति दे दूं तो फिर यहां ट्रैफिक जाम हो जाएगा। आप इसके जिम्मेवार होंगे क्या आप यह जिम्मेदारी लेने के लिए तैयार हैं?' यतीश चंद्र की गिनती उन चंद साहसी अफसरों में होती है जिनके बेहतरीन काम का लोहा सभी मानते हैं। यतीश चंद्र के बारे में…
Image