यूपी : कोरोना रोकने के लिए सीएम योगी का नया प्लान

उत्तर प्रदेश में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हर एक ग्राम पंचायत और नगर पालिका वार्ड में निगरानी समिति बनाने का आदेश दिया है. निगरानी समिति को दूसरे राज्यों से आने-जाने वाले लोगों, सिम्प्टोमैटिक मरीजों की निगरानी करनी होगी, ताकि कोरोना से फैलने से रोका जा सके.

उत्तर प्रदेश में तेजी से बढ़ रहे कोरोना को रोकने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ नया प्लान लेकर आए हैं. दरअसल, सीएम ने संक्रमण को रोकने के लिए गांव-गांव, शहर-शहर निगरानी समितियां बनाने को कहा है. इन समितियों का मकसद कोरोना को फैलने से रोकना होगा. सीएम योगी ने कहा कि हर ग्राम पंचायत और नगर पालिका वार्ड में निगरानी समिति बनाई जाए, ताकि कोरोना को बढ़ने से निगरानी करके रोका जा सके. इसके अलावा सीएम ने वैक्सीनेशन प्रोग्राम में भी तेजी लाने को कहा है. 

निगरानी समिति में कौन होगा शामिल? 

कोरोना रोकने के लिए बनने वाली निगरानी समिति गांव और शहर दोनों जगह होंगी. ग्रामीण इलाकों में इन समितियों में सरकारी अधिकारी, युवा, चौकीदार को जोड़ा जाएगा. वहीं, शहरी इलाकों में एनजीओ और सिविल डिफेंस को निगरानी समिति में शामिल किया जाएगा. सीएम योगी ने ये भी कहा है कि शहरी इलाकों में जरूरत पड़ने पर चुने गए सभी प्रतिनिधियों को निगरानी समिति में जोड़ा जा सकता है.

निगरानी समिति का काम क्या होगा? 

इन निगरानी समिति का काम कोरोना को फैलने से रोकना होगा. ये समितियां लोगों को सतर्क करने के साथ-साथ सड़कों पर लापरवाह ढंग से घूम रहे लोगों पर नजर रखेगी. निगरानी समिति दूसरे राज्यों से आ रहे यात्रियों और कोरोना के लक्षण दिखने वाले व्यक्तियों पर लगातार नजर रखेगी, ताकि यूपी में बढ़ रहे कोरोना के मामलों को काबू किया जा सके.

आज ही से बना दी जाए निगरानी समिति 

सीएम योगी ने स्वास्थ्य अधिकारियों को निर्देश दिया है कि निगरानी समितियों का गठन आज से ही कर दिया जाए. निगरानी समिति का काम शुरू करने के लिए रविवार दोपहर तक सभी जिलों के लोगों का डेटा मंगाया गया है. 

यूपी में 3,290 नए मामले 

उत्तर प्रदेश में शनिवार को बीते 24 घंटे में कोरोना के 3,290 नए मामले सामने आए. 14 लोगों की मौत भी हुई. राजधानी लखनऊ में सबसे ज्यादा 1,041 मामले मिले और 6 लोगों की जान गई. यूपी में कोरोना के अब तक 6,25,923 मामले सामने आ चुके हैं, जबकि 8,850 लोगों की मौत हो चुकी है.



Comments