बलिया : विचारक महापुरुष थे स्वामी विवेकानंद : दुर्गादत्त त्रिपाठी

शक्ति स्थल स्कूल में मनाई गई स्वामी विवेकानंद की जयंती

बलिया। स्थानीय चंद्रशेखर नगर स्थित शक्ति स्थल स्कूल पर मंगलवार को स्वामी विवेकानंद जी की जयंती मनाई गई। 

चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित करने के बाद सभा को संबोधित करते हुए विद्यालय के प्रबंधक दुर्गादत्त त्रिपाठी ने कहा कि स्वामी जी परम देशभक्त, धर्म प्रचारक एवं विचारक महापुरुष थे। उन्होंने अपने जीवन में विभिन्न देशों का भ्रमण किया एवं उनके संस्कृतियों की अच्छाइयों को ग्रहण किया एवं अपनी संस्कृति को परिमार्जित करने के लिए जहां भी अच्छी चीजों की आवश्यकता पड़ी अन्य संस्कृतियों की अच्छी चीजों को अपनी संस्कृति में समाहित करके इसे उत्कृष्ट बनाने का कार्य किया स्वामी विवेकानंद ने अपने गुरु स्वामी रामकृष्ण परमहंस के नाम पर एक संस्था की स्थापना की जिसका नाम स्वामी रामकृष्ण मिशन रखा। इस संस्था के माध्यम से उन्होंने सामाजिक पिछड़े लोगों की मदद की। सभा को संबोधित करते हुए प्रधानाचार्य आशुतोष त्रिपाठी ने कहा कि स्वामी जी एक कुशाग्र बुद्धि युवक थे इसीलिए उनके जन्मदिन को राष्ट्रीय युवा दिवस के रुप में मनाया जाता है। प्रत्येक युवाओं को इस महापुरुष की तेजस्विता को ग्रहण करने का प्रयास करना चाहिए और स्वामी विवेकानंद जी के मार्गो पर चलने का प्रयास करना चाहिए।

सभा को संबोधित करते हुए सहायक अध्यापक साकेत त्रिपाठी ने कहा कि स्वामी जी समाज सुधारक एवं दार्शनिक थे। उक्त अवसर पर अंबिका त्रिपाठी, अतुल कुमार पांडेय, ओम प्रकाश त्रिपाठी, संतोष ठाकुर, नीरज वर्मा, नीलू श्रीवास्तव, गीता देवी, रामजी त्रिपाठी आदि उपस्थित रहे।



Comments