इंस्पेक्टर ने महिला स्पेशल पुलिस ऑफिसर से किया बलात्कार, FIR दर्ज

अलीगढ। अलीगढ़ में क्राइम ब्रांच में तैनात इंस्पेक्टर एक महिला एसपीओ ( स्पेशल पुलिस ऑफिसर) की मजबूरी का फायदा उठाकर उसके साथ काफी दिनों से रेप करता रहा। शुक्रवार को पीड़िता ने पुलिस कप्तान से इस बाबत शिकायत की। एसएसपी ने आरोपी को सस्पेंड कर दिया और उसके खिलाफ रेप,एससी-एसटी एक्ट की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। आरोपी अभी पुलिस की पकड़ से बाहर है।

शहर के एक थाना क्षेत्र में एसपीओ के पद पर तैनात महिला की ओर से दर्ज मुकदमे में कहा गया है कि उसकी बेटी का दहेज को लेकर ससुरालियों से विवाद चल रहा है। इसी के तहत पिछले दिनों उसकी बेटी ने अपने ससुराल वालों के खिलाफ सासनी गेट थाने में मुकदमा दर्ज कराया था। इस मामले की विवेचना क्राइम ब्रांच के इंस्पेक्टर राकेश यादव के पास है। एफआईआर में कहा गया है कि विवेचना के दौरान राकेश महिला एसपीओ के भी संपर्क में आए और बेटी को न्याय दिलाने का भरोसा दिलाने लगे। धीरे-धीरे राकेश महिला का उत्पीड़न करने लगा। बीती 10 अक्टूबर को आरोपी ने महिला को रामघाट रोड स्थित थाना क्वार्सी से चंद कदम की दूरी एक होटल में मुकदमे की जानकारी व कागज देने के बहाने बुलाया गया। एसपीओ वहां पहुंची तो इंस्पेक्टर ने उसके साथ दुष्कर्म किया। साथ ही धमकी दी कि यह बात किसी को बतायी तो बेटी के मुकदमे में कोई कार्रवाई नहीं करेंगे।

एसपीओ इसी डर से काफी दिनों तक चुप रही और शिकायत नहीं की। रिपोर्ट में कहा गया कि इंस्पेक्टर महिला की चुप्पी का फायदा उठाने लगा और आये दिन फोन करके होटल बुलाकर मनमानी करने लगा। वह फोन पर भी घंटों अश्लील बातें भी करता रहा। पीड़िता ने शिकायत उच्चाधिकारियों से करने की बात कही तो इंस्पेक्टर ने महिला को थाना सासनी गेट बुलाकर जान से मारने की धमकी दी। शुक्रवार को महिला ने एसएसपी से मुनिराज जी को पूरे मामले की जानकारी दी। पीड़िता ने कप्तान को आरोपी का ऑडियो भी सुनाया। एसएसपी ने घटना का संज्ञान लेते हुए इंस्पेक्टर को निलंबित कर दिया। इसके साथ ही आरोपी के विरुद्ध मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिये। थाना क्वार्सी में इंस्पेक्टर राकेश यादव के विरुद्ध दुष्कर्म व एससी-एसटी एक्ट में मुकदमा दर्ज किया गया है। मुनिराज जी, एसएसपी, अलीगढ़ ने बताया कि क्राइम ब्रांच इंस्पेक्टर के विरुद्ध शिकायत सामने आने पर उसे निलंबित कर दिया गया है। साथ ही मुकदमा भी दर्ज कराया गया है। मामले की जांच करायी जा रही है।



Comments