नवागत महाप्रबन्धक श्री विनय कुमार त्रिपाठी ने किया पूर्वोत्तर रेलवे के विभिन्न विभागों एवं मण्डलों के कार्य-प्रणाली एवं उपलब्धियों की समीक्षा


गोरखपुर 31 अक्टूबर, 2020: पूर्वोत्तर रेलवे के नवागत महाप्रबन्धक श्री विनय कुमार त्रिपाठी द्वारा पूर्वोत्तर रेलवे के विभिन्न विभागों एवं मण्डलों के कार्य-प्रणाली एवं उपलब्धियों की समीक्षा के क्रम में 3 अक्टूबर,2020 को महाप्रबन्धक सभागार, गोरखपुर में आयोजित बैठक में विद्युत, संरक्षा, इंजीनियरिंग, यांत्रिक एवं भण्डार के कार्य कलापों पर विस्तृत चर्चा हुई।


महाप्रबन्धक श्री विनय कुमार त्रिपाठी ने संरक्षित रेल संचलन सुनिश्चित करने पर विषेष बल देते हुये कहा कि लोको पायलटों एवं लोको निरीक्षकों को उन्नत प्रषिक्षण सतत् प्रक्रिया के रूप में दिया जाय ताकि उनकी कार्य कुशलता एवं दक्षता का निरन्तर विकास होता रहे। लोको असफलता के विभिन्न कारणों की समीक्षा कर सुधारात्मक कार्यवाही कर लोको विफलता के मामलों को न्यूनतम करने का महाप्रबन्धक ने निर्देश दिया। इसी प्रकार टी.आर.डी. विफलता को भी कम करने पर विशेष ध्यान देने के लिये सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि पूर्वोत्तर रेलवे पर बदलाव बहुत तेजी से हो रहा है। पहले छोटी लाइन से बड़ी लाइन में, इसके बाद नान इलेक्ट्रिफाइड से इलेक्ट्रिफाइड रेलवे बनने की दिशा में तेजी से अग्रसर है, ऐसे में संरक्षा तथा कर्मचारियों के प्रशिक्षण पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है। 


महाप्रबन्धक श्री त्रिपाठी ने गोरखपुर-नकहा जंगल खण्ड के विद्युतीकरण को उच्च प्राथतिकता पर करने का निर्देश दिया। महाप्रबन्धक ने कहा कि कारखानों में स्क्रैप डिस्पोजल का लक्ष्य निर्धारित किया जाय तथा उनकी नीलामी भी सुनिश्चित की जाय। श्री त्रिपाठी ने पुराने कन्वेंशन कोचों को एन.एम.जी. वैगनों में परिवर्तित करने की गति बढ़ाने पर भी जोर दिया । पूर्वोत्तर रेलवे द्वारा इस वर्ष अभी तक 100 कन्वेंशन कोचों को एन.एम.जी. वैगनों में परिवर्तित किया गया है।  


प्रमुख मुख्य विद्युत इंजीनियर श्री ए.के.शुक्ला, मुख्य संरक्षा अधिकारी श्री एस.एन.शाह, प्रमुख मुख्य यांत्रिक इंजीनियर श्री अरविन्द कुमार पाण्डेय, प्रमुख मुख्य इंजीनियर श्री एस.के.पाण्डेय तथा प्रमुख मुख्य सामग्री प्रबन्धक श्री आर.के.यादव ने पावर प्वाइन्ट प्रजेन्टेषन के माध्यम से अपने-अपने विभागों के प्रदर्शन, उपलब्धियों एवं भावी कार्य-योजना की विस्तृत जानकारी दी। 


Comments