यूपी : इन बच्चों को नहीं देनी होगी परीक्षा, बिना एग्जाम ही होंगे पास

 

पिछले साल भी कोरोना की वजह से बच्चों को बिना परीक्षा के ही पास कर अगली क्लास में प्रमोट कर दिया था. अब इस बार भी योगी सरकार ने 8वीं तक के बच्चों को प्रमोट करने का फैसला लिया है.

-सरकारी स्कूल के 8वीं तक के बच्चों की नहीं होगी परीक्षा

-बिना परीक्षा के ही अगली क्लास में प्रमोट होंगे बच्चे

-24 से 31 मार्च तक यूपी में 8वीं तक के स्कूल बंद हैं

कोरोना महामारी को भारत में आए एक साल से ज्यादा का वक्त बीत गया है. लेकिन हालात अभी भी जस के तस ही बने हैं. एक बार फिर कोरोना ने अपनी रफ्तार बढ़ा दी है. कोरोना का सबसे ज्यादा असर स्कूली बच्चों की शिक्षा पर पड़ रहा है. बच्चे पिछले एक साल से ऑनलाइन पढ़ाई कर रहे हैं. ऐसे में उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने इस साल भी सरकारी स्कूल में पढ़ने वाले 8वीं तक के बच्चों को बिना परीक्षा के ही अगली क्लास में प्रमोट करने का फैसला लिया है. यानी पहली से 8वीं तक के बच्चों को अगली क्लास में जाने के लिए एग्जाम नहीं देना होगा.…

स्कूल शिक्षा विभाग के डीजी विजय किरण आनंद ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिए हैं. आदेश में ये भी कहा गया है कि नया एकेडमिक सेशन 1 अप्रैल से शुरू होगा. आदेश के मुताबिक, 8वीं तक के बच्चों को उनकी पिछली क्लास के आधार पर इवैल्यूएट किया जाएगा. इसके अलावा काउंसिल स्कूलों में पढ़ने वाले पहली से 8वीं तक के बच्चों के फाइनल एग्जाम को भी टाल दिया गया है. ये एग्जाम 25 और 26 मार्च को होने थे.

31 मार्च तक स्कूल बंद रहेंगे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 24 से 31 मार्च तक पहली से 8वीं क्लास तक के स्कूलों को बंद करने का आदेश दिया है. कोरोना के बढ़ते केस को देखते हुए कक्षा-1 से 8 तक के सभी परिषदीय एवं निजी विद्यालयों में 24 से 31 मार्च तक अवकाश घोषित किया गया है. साथ ही जिन शिक्षण संस्थानों में परीक्षाएं नहीं हो रही हैं, वो भी बंद रहेंगे.  

बोर्ड एग्जाम भी पोस्टपोन हो सकते हैं 10वीं और 12वीं बोर्ड के एग्जाम की तारीखें भी आगे बढ़ सकती हैं. लेकिन ये कोरोना की वजह से नहीं, बल्कि पंचायत चुनाव की वजह से हो सकता है. यूपी में बोर्ड परीक्षाएं 24 अप्रैल से शुरू होनी थीं. लेकिन इसी बीच पंचायत चुनाव भी होने हैं. इसलिए अब इन परीक्षाओं के मई के पहले हफ्ते में होने की संभावनाएं हैं. 27 मार्च को राज्य निर्वाचन आयोग की प्रेस कॉन्फ्रेंस है, हो सकता है कि उसमें बोर्ड परीक्षाओं की तारीखों को लेकर भी कोई फैसला हो.


Comments