स्वतंत्रता आंदोलन में शहीद हुये बलिदानियों के घरों तक बनायी जायेंगी सड़कें


लोक निर्माण विभाग द्वारा चलायी जा रही विशिष्ट योजनाओं के लिये अलग मद बनाने की कार्यवाही की जाय

पान्टून पुलों के निर्माण में कतई विलम्ब न किया जाय

04 दिन के अन्दर उपयोगिता प्रमाण-पत्र मंगाकर, लम्बित भुगतान नियमानुसार किये जांय : केशव प्रसाद मौर्य

लखनऊ, दिनांक 15 जनवरी 2021। उ0प्र0 के उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा है कि भारत के स्वतंत्रता आंदोलन में शहीद हुये उ0प्र0 के अमर रणबांकूरों के नाम से उनके घरों तक लोक निर्माण विभाग द्वारा सड़कें बनायी जायेंगी, यदि कहीं सड़कें पहले से बनी हैं और खराब हैं तो उनका सुदृढ़ीकरण व सौन्दर्यीकरण भी कराया जायेगा तथा अमर बलिदानियों के फोटो व विवरण दर्शाते हुये, वहां पर युनिक-बोर्ड लगाये जायेंगे। श्री मौर्य आज अपने सरकारी आवास 7 कालिदास मार्ग पर आयोजित उच्चस्तरीय बैठक में लोक निर्माण विभाग के कार्यों के क्रियान्वयन व प्रगति की समीक्षा कर रहे थे।

श्री मौर्य ने कहा कि चैरी-चैरा कांड में शहीद हुये बलिदानियों के घरों तक जल्दी से जल्दी सड़कें बनाने की कार्यवाही सुनिश्चित की जाय और सभी जिलों से शहीदों की सूची एकत्र करा ली जाय। उन्होने निर्देश दिये कि लोक निर्माण विभाग द्वारा चलाई जा रही विशिष्ट एवं अभिनव योजनाओं जैसे-डाॅ0 ए0पी0जे0 अब्दुल कलाम गौरवपथ, मेजर ध्यानचन्द विजय पथ, जय हिन्द वीर पथ आदि योजनाओं के क्रियान्वयन के लिये बजट हेतु एक अलग से मद बनाये जाने की कार्यवाही सुनिश्चित की जाय। उन्होने यह भी निर्देश दिये कि इन अभिनव योजनाओं में निर्धारित मानकों को पूरा करने वाले किसी भी व्यक्ति का नाम छूटना नहीं चाहिये। उन्होने यह भी निर्देश दिये कि इन अभिनव योजनाओं को पूरा करने व सम्बन्धित विभागों से समन्वय करने के लिये शासन स्तर से व लोक निर्माण विभाग से एक-एक वरिष्ठ अधिकारी को नोडल अधिकारी बनाया जाय। संघ लोक सेवा आयोग की परीक्षा में उ0प्र0 के टाॅप-10 आने वाले आई0ए0एस0, आई0पी0एस0 आदि के घरों तक बनाये जाने वाली सड़कों को स्वामी विवेकानन्द सेवा पथ योजना नाम दिया जाय। 

श्री केशव प्रसाद मौर्य ने प्रदेश में बड़ी संख्या में बनाये जा रहे लघु सेतुओं, रेल उपरिगामी सेतुओं, नदी सेतुओं व फ्लाईओवरों के कार्याें की समीक्षा करते हुये कहा कि इन कार्यों में गति लायी जाय तथा सेतु निगम अपने कार्यों का दायरा बढ़ाते हुये अपनी साख कायम रखे। उन्होने जोर देते हुये कहा कि जहां पर भी पान्टून पुल की आवश्यकता है, वहां तत्काल सभी औपचारिकताएं पूरी करते हुये पान्टून पुल बनाये जांए। लोगों के आवागमन के लिये कोई असुविधा नहीं होनी चाहिये।

श्री मौर्य ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि सभी परियोजनाओं के उपयोगिता प्रमाण-पत्र 04 दिन के अन्दर अनिवार्य रूप से मंगाते हुये, जिन ठेकेदारों के कोई भुगतान लम्बित हैं, सभी औपचारिकताएं पूर्ण कर नियमानुसार तत्काल भुगतान सुनिश्चित कराया जाय और कार्यों में गति लायी जाय। 

बैठक में प्रमुख सचिव लो0नि0वि0, श्री नितिन रमेश गोकर्ण, सचिव लो0नि0वि0, श्री समीर वर्मा, प्रमुख अभियन्ता (विकास) एवं विभागाध्यक्ष श्री राजपाल सिंह, प्रमुख अभियन्ता श्री अनिल कुमार जैन, प्रबन्ध निदेशक सेतु निगम श्री अरविन्द श्रीवास्तव, मुख्य अभियन्ता श्री संजय श्रीवास्तव, अधीक्षण अभियन्ता श्री जे0के0 बांगा, विशेष कार्याधिकारी श्री प्रदीप कुमार सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे। सम्पर्क सूत्र-बी0एल0 यादव, सूचना अधिकारी। 



Comments