पूर्वोत्तर रेलवे : वाराणसी मंडल के दुरौन्धा-महाराजगंज-मशरख रेल खंड का संरक्षा परीक्षण 16 जनवरी को

वाराणसी 15 जनवरी, 2020: रेलवे प्रशासन द्वारा यात्री सुविधाओं के उन्नयन एवं परिचालन सुगमता हेतु मूलभूत ढ़ांचे में विस्तार का कार्य प्राथमिकता के आधार पर किया जा रहा है। इसी क्रम में पूर्वोत्तर रेलवे के वाराणसी मंडल में दुरौन्धा-महाराजगंज-मशरख रेल खंड का विद्युतीकरण पूर्ण होने  है।


छपरा-मशरख के मध्य नव विद्युतीकृत 40 किमीलम्बे दुरौन्धा-महाराजगंज-मशरख का संरक्षा परीक्षण 16 जनवरी, 2021 को रेल संरक्षा आयुक्तउत्तर पूर्वी सर्किललखनऊ मोलतीफ  खान द्वारा किया जायेगा। निरीक्षण के दौरान पूर्वोत्तर रेलवे के मुख्य प्रशासनिक अधिकारी (निर्माण), मंडल रेल प्रबन्धकवाराणसीमुख्य इंजीनियर/कार्यमुख्य विद्युत वितरण इंजीनियरमुख्य सिगनल एवं दूर संचार इंजीनियर/निर्माणमुख्य विद्युत इंजीनियर/निर्माणमुख्य इंजीनियर/निर्माण/मुख्यालयउप मुख्य संरक्षा अधिकारी सहित मुख्यालय एवं वाराणसी मंडल के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहेंगे।


कार्यक्रम के दौरान रेल संरक्षा आयुक्त मोलतीफ दुरौन्धा रेलवे स्टेशन पर पावर सब स्टेशन का निरीक्षण करेंगेदुरौन्धा-महाराजगंज  के मध्य कर्वेचर संख्या-02 , मोटर ट्राली से ओवर हेड इलेक्ट्रिकल क्रासिंग इन्सपेक्षन,महाराजगंज स्टेशन ,सगहर सुतानपुर हॉल्ट स्टेशन एवं पावर सब स्टेशन तथा ब्रिज संख्या-71  का निरीक्षण करते हुए मशरख पहुंचेंगे तथा मसरख से दुरौन्धा  तक विद्युत इंजन से  स्पीड ट्रायल करेंगे । पहली बार इस रेल खण्ड के रेलवे ट्रैकों एवं ओवर हेड केबिलों पर 800 किलोवाट हाई टेंशन विद्युत प्रवाहित होगी जिसके लिए आम जनता को चेतावनी दी जाती है की वे रेलवे ट्रैक से दूरी बनाकर रखे तथा आम जन से अनुरोध है कि इस दौरान इस विद्युतीकृत रेल खंड पर न जाये न ही अपने मवेषियों को जाने दें।


उल्लेखनीय है कि 40 किमीलम्बे दुरौन्धा-महाराजगंज-मशरख विद्युतीकरण का संरक्षा निरीक्षण 16 जनवरी2021 को रेल संरक्षा आयुक्तउत्तर पूर्वी सर्किललखनऊ द्वारा किया जाना एक बड़ी उपलब्धि है। जिससे इस  खण्ड की लाइनों की गति को विस्तार मिलेगा तथा समयपालन में आशातीत सुधार होगा।

 

 


Comments