हमें गांधी जी के स्वच्छता कार्यक्रम को आगे बढ़ाने के लिये स्वयं स्वच्छता कार्यों में योगदान देना चाहिये : अमित कुमार अग्रवाल


गोरखपुर 02 अक्टूबर, 2020:  अपर महाप्रबन्धक श्री अमित कुमार अग्रवाल के मुख्य आतिथ्य में   02 अक्टूबर को गांधी जयन्ती के अवसर पर पूर्वोत्तर रेलवे के ’इन्वायरमेंट एण्ड हाउस कीपिंग मैनेजमेंट (ई.एन.एच.एम.) के तत्त्वावधान में ई.एन.एच.एम. के प्रमुख, प्रमुख यांत्रिक इंजीनियर श्री अरविन्द कुमार पाण्डेय के निर्देषन में उप मुख्य यांत्रिक इंजीनियर/ई.एन.एच.एम. की देख-रेख में गोरखपुर जं. रेलवे स्टेषन पर स्वच्छता उपकरणों, सामग्रियों एवं कोेरोना से बचाव के सामग्रियों की प्रदर्षनी लगाई गयी तथा स्वच्छता तथा कोरोना महामारी से बचाव एवं रोकथाम पर पूर्वोत्तर रेलवे भारत स्काउट एवं गाइड के सदस्यों एवं कलाकारों द्वारा नुक्कड़ नाटक की प्रस्तुति की गई। कार्यक्रम के आरम्भ में अपर महाप्रबन्धक श्री अमित कुमार अग्रवाल एवं अन्य विभागाध्यक्षों ने महात्मा गांधी के चित्र पर माल्यार्पण किया। इस अवसर पर अपर महाप्रबन्धक एवं अन्य प्रमुख विभागाध्यक्षों ने स्वच्छता बैनर पर अपने विचार लिखे। इस अवसर पर प्रमुख मुख्य विभागाध्यक्ष, वरिष्ठ रेल अधिकारी, स्वच्छताकर्मी, कार्यकता, रेलकर्मी एवं यात्री उपस्थित थे। कार्यक्रम में सामाजिक दूरी एवं कोविड-19 के अन्य प्रावधानों का पालन किया गया।


महाप्रबन्धक, पूर्वोत्तर रेलवे श्री एल.सी.त्रिवेदी ने स्वच्छता पखवाड़ा के अंतिम दिन वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से स्वच्छता पखवाड़ा के कार्यों की समीक्षा करते हुए कहा कि गन्दे स्थानों जैसे-ड्रेनेज एवं सीवर की सफाई मैकेनाइज्ड रूप से कराना चाहिये। उन्होंने कहा कि नालियां ढ़की होनी चाहिये। महाप्रबन्धक ने स्वच्छता पखवाड़े के अन्तर्गत किये गये कार्यों के लिये ई.एन.एच.एम. अनुभाग के कार्यों की सराहना की।


इस अवसर पर अपर महाप्रबन्धक श्री अमित कुमार अग्रवाल ने कहा कि आज हम  गांधी जी के जन्मदिन पर एकत्र हुए है। दक्षिण अफ्रीका से भारत आकर महात्मा गांधी ने थर्ड क्लास में रेल से पूरे देष की यात्रा कर लोगों का हाल जाना एवं स्वच्छता पर विषेष जोर दिया। गांधी जी स्वयं सफाई करते थे। जबकि हम अपने घर के अन्दर की सफाई करते है और बाहर की सफाई पर ध्यान नहीं देते। हमें गांधी जी के स्वच्छता कार्यक्रम को आगे बढ़ाने के लिये स्वयं स्वच्छता कार्यों में योगदान देना चाहिये। उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी ने जीवन पर्यन्त देष की सेवा की एवं लोगो का मार्ग प्रषस्त किया तथा आजादी दिलाने में मुख्य भूमिका निभाई। इनका स्वच्छता के प्रति अनुराग हमें गन्दगी से आजादी दिलाने में अग्रणी भूमिका निभा रहा है। महात्मा गांधी का शब्द है ’’स्वतन्त्रता से भी ज्यादा जरूरी स्वच्छता है।’’


अपर महाप्रबन्धक श्री अग्रवाल ने कहा कि महात्मा गांधी के इन्हीं विचारों को चरितार्थ करने के लिये भारतीय रेल सतत् प्रयत्नषील है। इन्हीं उद्देष्यों की पूर्ति के लिये प्रतिवर्ष 16 से 30 सितम्बर तक स्वच्छता पखवाड़ा का आयोजन किया जाता है। जिससे रेल से जुड़े सभी आयाम जैसे-ट्रेन, रेलवे ट्रैक, स्टेषन, डिपों, नाली व रेलवे परिसर के अतिरिक्त  आहार व स्वच्छ पानी को भी शामिल किया जाता है। श्री अग्रवाल ने कहा कि स्वच्छता पखवाड़ा न केवल रेलकर्मी अपितु रेल यात्री व रेल सेवा से प्रत्यक्ष/अप्रत्यक्ष रूप से जुड़े लोगों को भी स्वच्छता के प्रति संवेदनषील बनाने में एक उत्प्रेरक का कार्य कर रहा है। पूर्वोत्तर रेलवे में आयोजित स्वच्छता पखवाड़ा में विभिन्न कार्यक्रमों के लिये अलग-अलग दिन निर्धारित किया गया है जिससे विषेष रूप से ध्यान देते हुए सघन साफ-सफाई एवं मानिटरिंग सुनिष्चित की जा सकी।


मंडलो एवं मुख्यालय में इस पखवाड़ा में सफाई कार्यक्रमों के अतिरिक्त कोविड से जुडे़ सामग्रियों जैसे- सैनिटाइजर, फेस मास्क, हैण्ड ग्लब्स, साबुन इत्यादि सामानों का वितरण सफाई कर्मियों व रेल यात्रियों में किया गया।


इस आयोजन में कोविड के परिप्रेक्ष्य में स्वच्छता संबंधी संदेष, स्टेषन से उद्घोषणा, पूर्वोत्तर रेलवे की वेबसाइट पर स्वच्छता स्लोगन एवं प्रिन्ट मीडिया के माध्यम से संबंधित संदेष का प्रचार-प्रसार किया गया। इसके अतिरिक्त कोविड-19 के रोकथाम से संबंधित विषय पर सेमिनार का भी आयोजन किया गया।


रेलवे में प्लास्टिक की रोकथाम हेतु ’नो प्लास्टिक’ अभियान चलाया गया और लोगों को इसके प्रयोग के दुष्परिणाम के प्रति जागरूक किया गया।


इस पखवाड़े के दौरान स्वच्छता संबंधी विभिन्न विषयों पर प्रतियोगिता आयोजित की गयी। इस दौरान स्वच्छ कालोनी/कार्यालय प्रतियोगिता/आॅन लाइन निबन्ध लेखन व स्लोगन, पर्यावरण पर प्रष्नोत्तरी का आयोजन किया गया जिसके विजेताओं को पुरस्कार वितरित किया गया।


इस पखवाड़े के दौरान विभिन्न स्टेषनों पर खाद्य पदार्थो एवं पीने के पानी की स्वच्छता व साफ-सफाई की जांच की गयी और रेल यात्रियों को शुद्व खाद्य पदार्थों व स्वच्छ पानी उपलब्ध कराया गया। इस पखवाड़े के अंतिम दिवस पर बैठक कर पखवाड़े के दौरान आयोजित कार्यक्रमों की समीक्षा की गयी तथा इस कार्यक्रम की मूलभावना को रेलवे कार्यषैली में आत्मसात करने के लिये प्रभावी कार्ययोजना पर विचार किया गया। इस स्वच्छता प्रदर्षनी में स्वच्छता पखवाड़ा-2020 के अन्तर्गत किये गये कार्यों के प्रदर्षनी लगायी गयी। प्रदर्षनी में स्वच्छता एवं कोविड-19 से बचाव के नारों की शानदार प्रस्तुति की गई।


उप मुख्य यांत्रिक इंजीनियर/ई.एन.एच.एम.  श्री ए.के. पाण्डेय ने कार्यक्रम का संचालन करते हुए कहा कि हमें स्वच्छता की मूल भावना को ध्यान में रखते हुए स्वच्छता को बढ़ावा देना चाहिये। सोषल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए नुक्कड़ नाटक की प्रस्तुति की गयी। नुक्कड़ नाटक का संचालन श्री अषोक महर्षि एवं श्री राधेष्याम ने किया।


Comments