कोरोना के लक्षणों में आया बदलाव, जुकाम-बुखार के अलावा ये समस्या भी हो सकती है कोविड होने का संकेत

कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों से केंद्रीय सरकार बेहद ही चिंता में हैं और आज पीएम मोदी इस मसले पर राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक करने जा रहे हैं। दो दिन पहले ही पीएम मोदी ने कोरोना रिव्यू मीटिंग की थी। जिसमें अधिकारियों को निर्देश दिए थे कि कोरोना रोकने के लिए सख्त कदम उठाए जाएं। वहीं आज राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ होने वाली बैठक में पीएम मोदी वैक्सीनेशन पर चर्चा करेंगे और जरूर कदम उठाने के आदेश देंगे।

इसी बीच देश में कोविड के नए स्ट्रेनों के मामले भी तेजी से बढ़ रहे हैं। हैरानी की बात ये है कि कई लोगों में सामान्य बीमारियों के साथ भी कोरोना टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आ रहा है। यानी जुकाम-बुखार, सांस लेने में तकलीफ के अलावा अन्य स्वास्थ्य संबंधी स्थितियों में भी कोविड निकल रहा है।

एक अंग्रेजी अखबार में छपी रिपोर्ट के मुताबिक 62 वर्षीय डायबिटिक रोगी को कोविड होने पर भूख लगना बंद हो गई और कमजोरी महसूस होने लगी। जबकि कुछ ऐसे मामले भी देखे गए हैं। जहां पीलिया और टॉयफाइड के लक्षण मरीजों में थे। लेकिन जब उनका टेस्ट हुआ तो रिपोर्ट निगेटिव आई। वहीं कोविड-19 टेस्ट करवाने पर रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई।

डायरिया और पेट में दर्द से परेशान 27 वर्षीय युवक का भी कोरोना टेस्ट लिया गया और रिपोर्ट पॉजिटिव आई। एक 43 वर्षीय व्यक्ति को लगातार हिचकी आ रही थी। जब उसका टेस्ट किया गया तो वो कोरोना से संक्रमित पाया गया।

इन मामलों से साफ है कि कोरोना के लक्षण बदल रहे हैं। खांसी, बुखार, सांस लेने में तकलीफ जैसे लक्षणों के अलावा अब ओर भी लक्षण कोरोना से जुड़े हुए पाए जा रहे हैं। मध्यप्रदेश के इंदौर में कोविड कॉटैक्ट ट्रैकिंग प्रभारी डॉ अनिल डोंगरे ने कोरोना के लक्षणों में आए बदलाव पर बात करते हुए मीडिया से कहा कि सितंबर-अक्टूबर तक आमतौर पर जुकाम-बुखार, सांस लेने में तकलीफ, स्वाद और सुगंध चले जाना। इस बीमारी के लक्षण थे। लेकिन अब कोविड के नए स्ट्रेनों के मामले बढ़ रहे है, ऐसे में संबंधित लक्षणों में भी बदलाव देखे जा रहे हैं।

थकान-कमजोरी, शरीर में दर्द, उल्टी और डायरिया जैसी बीमारियां भी कोविड-19 के लक्षण हैं। लोगों को सांस लेने और स्वाद और सुगंध चले जाने की दिक्कत काफी देर में महसूस हो रही है।

कोरोना से संक्रमित पाए जाने पर अधिक मात्रा में तरल पदार्थों का सेवन करें। प्रोटीन और अन्य पौष्टिक आहारों का सेवन थोड़ी-थोड़ी देर पर करें। गर्म पानी से भाप लें। अगर घर पर ही आपका इलाज हो रहा है, तो सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखें और मास्क जरूर लगाएं। वहीं जो लोग कोरोना की वैक्सीन लगाने के लिए योग्य हैं, वो ये वैक्सीन जरूर लगा लें।




Comments