वाराणसी मंडल : बाबा साहब डॉ0 भीम राव अम्बेडकर का मनाया गया 64वाँ महापरिनिर्वाण दिवस

वाराणसी। पूर्वोत्तर रेलवे वाराणसी मंडल के मंडल रेल प्रबंधक श्री विजय कुमार पंजियार की अध्यक्षता में मंडल कार्यालय के प्रेमचंद सभागार कक्ष में बाबा साहब भीम राव अम्बेडकर का 64 वाँ महापरिनिर्वाण दिवस मनाया गया। इस अवसर पर अपर मंडल रेल प्रबंधक (इन्फ्रा) श्री प्रवीण कुमार, वरिष्ठ मंडल कार्मिक अधिकारी श्री सुमित पॉल, वरिष्ठ मंडल परिचालन प्रबंधक श्री रोहित गुप्ता, वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक श्री संजीव शर्मा, वरिष्ठ मंडल इंजीनियर श्री राजीव अग्रवाल, वरिष्ठ मंडल सिगनल एवं दूरसंचार इंजीनियर श्री त्रम्बक तिवारी, वरिष्ठ मंडल विद्युत इंजीनियर श्री एस.के.यादव, वरिष्ठ मंडल यांत्रिक इंजीनियर (O&F) श्री अलोक केशरवानी, वरिष्ठ मंडल यांत्रिक इंजीनियर (C&W) श्री सत्यप्रकाश श्रीवास्तव एवं वरिष्ठ मंडल विद्युत इंजीनियर (कर्षण) श्री पंकज केशरवानी, वरिष्ठ मंडल संरक्षा अधिकारी श्री वीरेंद्र यादव, वरिष्ठ इंजीनियर द्वितीय श्री एम.के. सिंह, मंडल सुरक्षा आयुक्त श्री ऋषि पाण्डेय, सहायक कार्मिक अधिकारी श्री एस.एन. उराँव, कार्मिक विभाग के निरीक्षकों समेत अनुसूचित जाति/जनजाति कर्मचारी एशोसियेशन के सदस्यों,मजदूर यूनियन के पदाधिकारी एवं कर्मचारियों ने बाबा साहब के तैल चित्र पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजली दी।

अपने अध्यक्षीय सम्बोधन में श्री पंजियार ने कहा मैं भारत रत्न बाबा साहब अम्बेडकर के महापरिनिर्वाण दिवस के अवसर पर श्रद्धांजली अर्पित करता हूँ। उन्होंने कहा बाबा साहब के समय का परिवेश हमसब के लिए अकल्पनीय है। बाबा साहब ने ऐसे परिवेश में भी कितना कष्ट झेलकर भी उच्च शिक्षा हासिल की और उस समय समाज में व्याप्त कुरीतियों व विसंगतियों से लड़ने के लिए और भी दृढप्रतिज्ञ हो गये जिसके परिणाम स्वरुप उन्होंने भेद भाव मिटाकर समता मूलक समाज के निर्माण में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। यह उनकी योग्यता का ही परिणाम था की उन्हें संविधान निर्माण की जिम्मेवारी सौपीं गई और अपनी अध्यक्षता में उन्होंने हमें विश्व का सर्वोत्तम संविधान दिया।

इस अवसर पर आयोजित विचार गोष्ठी में श्री कल्लू राम सोनकर/मंडल मंत्री अनुसूचित जाति एवं जनजाति कर्मचारी एशोसियेशन, श्री राम नक्षत्र यादव मंडल मंत्री/पिछड़ा एवं अति पिछड़ा वर्ग कर्मचारी एशोसियेशन तथा मंडल मंत्री एन इ रेलवे मजदूर यूनियन श्री एन.बी. सिंह ने बतलाया कि किस प्रकार बाबा साहब ने राष्ट्र के निर्माण में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया, समाज के दृष्टिकोण को बदला, समानता स्थापित की, महिलाओं, गरीबों एवं वंचितों को अधिकार दिलाया, मजदूरों के कम घंटे निर्धारित कराए, साप्ताहिक विश्राम आदि दिलाने का अद्वितीय कार्य किया। बाबा साहब ने आचरण की शुद्धता कर्तव्य बोध और स्वाभिमान की ऐसी अमित छाप रेखांकित की जिनका भारत वर्ष में युगों से दमन होता आया था। बाबा साहब के पूर्व किसी ने मानव समाज में समानता पर इतना बल नहीं दिया जो उन्हें मानवता के सच्चा पोषक के रूप में मंडित करता है।

कार्यक्रम का संचलन श्री राहुल भट्ट वरिष्ठ हित निरीक्षक ने किया तथा स्वागत एवं धन्यवाद ज्ञापन श्री सुमित पॉल वरिष्ठ मंडल कार्मिक अधिकारी ने किया।



Comments