अकेली नहीं है शबनम अली, जानिए दुनिया की कुछ और कुख्यात महिला अपराधियों की कहानी

अमरोहा की शबनम अली वह कुख्यात महिला अपराधी है जिस पर 7 लोगों की हत्या दोष है। फिलहाल कई वर्षों से वह मथुरा की जेल में बंद है। राष्ट्रपति ने उसकी दया याचिका खारिज कर दी है। हालांकि, यह याचिका दोबारा राष्ट्रपति के पास भेजी गई है, मगर सभी को उम्मीद है कि राष्ट्रपति इस बार भी उसकी याचिका खारिज कर मौत की सजा बरकरार रखेंगे। इसके बाद फरवरी के अंत या मार्च की शुरुआत में उसे फांसी की सजा दी जा सकती है।

यह पहली बार होगा, जब भारत में किसी महिला अपराधी को फांसी की सजा दी जा सकती है। हालांकि, शबनम अली पहली ऐसी महिला नहीं है, जिसे कुख्यात अपराधी का तमगा मिला हो। इससे पहले और इसके अलावा भी देश और दुनिया में कई कुख्यात महिला अपराधी रहे हैं। आइए जानते हैं उनके बारे में--

रेणुका और सीमा ने 42 बच्चों को मार दिया शबनम के अलावा, पुणे की रेणुका और सीमा भी मौत की सजा मिलने के बाद फांसी का इंतजार कर रही हैं। दोनों पर 42 बच्चों की हत्या का दोष सिद्ध हो चुका है। इनके जघन्य और क्रूर अपराध को देखते हुए ही इन्हें मौत की सजा दी गई है।

अमरीका की पहली महिला जिसे मौत की सजा दी गई अमरीकी गृह युद्ध के दौरान मैरीलैंड में मेरी सुरेट मशहूर हुई। पति की मौत हुई तो वाशिंगटन डीसी में एक बोर्डिंग हाउस खोल लिया। यहां साजिश रची जाने लगीं। उसने अमरीकी राष्ट्रपति अब्राहम लिंकन की हत्या की साजिश भी रची। अमरीका में वह पहली महिला बनी, जिसे फांसी के जरिए मौत की सजा दी गई। 7 जुलाई 1865 को उसे फांसी पर लटकाया गया।

कोर्डी ने 25 साल की उम्र में दिया हत्या को अंजाम फ्रेंच रिवोल्युशन के वक्त शेरलॉटे कोर्डी का नाम कुख्यात महिला के तौर पर सामने आया। कोर्डी ने 25 साल की उम्र में ही हत्या जैसे जघन्य अपराध को अंजाम दिया। वह सभ्य और अमीर परिवार से ताल्लुक रखती थीं। हालांकि, बाद में वह फ्रांस गणराज्य में ग्रिन्स नेताओं के साथ जुड़ीं। वह फ्रेंच क्रांति के दौरान मशहूर नेता रहे जीन पॉल मैरेट की जमकर खिलाफत करती थीं। 13 जुलाई 1793 को उन्होंने मैरेट की चाकू से हत्या कर दी। चार दिन बाद ही उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया।

अपहरण, चोरी और डकैतियों को अंजाम देती थी पार्कर अमरीका में 1930 के दशक में बोनी पार्कर काफी कुख्यात डकैत और चोर हुआ करती थी। उसने क्लाइड बैरो के साथ मिलकर दर्जनों अपराध किए। टेक्सास, ओक्लाहोमा, न्यू मैक्सिको और मिसोरी में दोनों ने मिलकर कार चोरी, बैंक डकैती और चोरियों के अलावा अपरहरण जैसे जघन्य अपराधों को अंजाम दिया। टेक्सास की एक जेल से पांच कैदियों को छुड़ाने के दौरान तीन पुलिसकर्मियों की हत्या भी दी। बाद में दोनों को पुलिस ने मार गिराया।

समुद्री डाकू बन व्यापारियों और जहाजों को लूटा 18वीं सदी के दौरान ऐनी बोनी कुख्यात समुद्री डाकू हुआ करती थी। आइरिश मूल की बोनी कैरिबियन सागर में जॉन रैकहोम के साथ समुद्र यात्रा करने वाले व्यापारियों को लूटती थी। 1720 में जब वह पकड़ी गई, तब गर्भवती थी, जिसकी वजह से उसे फांसी नहीं दी गई। सजा पूरी करने के बाद उसने दक्षिण कैरोलिना में रहकर घरेलू जीवन बिताया।

बेले का शौक था व्यापारियों को लूटना और घोड़े चुराना अमरीका के टेक्सास स्टेट में 19वीं सदी के दौरान बेले स्टार नाम की डकैत थी, जो अपने पति सैम स्टार के साथ मिलकर व्यापारियों को लूटती थी और बड़ी संख्या में घोड़े चुराती थी। पूरे इलाके में इस जोड़ी का काफी खौफ हुआ करता था। 1883 में दोनो को सजा सुनाई गई, लेकिन उसी बीच एक अज्ञात हत्यारे ने उसकी हत्या कर दी।

साभार- पत्रिका



Comments