यूपी : मदरसों में शिक्षकों समेत सभी डाटा होगा ऑनलाइन, तबादला नीति पर भी योगी सरकार कर रही विचार

उत्तर प्रदेश में 560 अनुदानित मदरसे हैं,इनमें नौ हजार शिक्षक पढ़ाते हैं. इनका वेतन प्रदेश सरकार देती है.पहले चरण में अनुदानित मदरसा शिक्षकों का विवरण मानव संपदा पोर्टल पर फीड किया जाएगा.

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार सूबे में मदरसों को लेकर सख्त होती नजर आ रही है. अब यूपी के मदरसों की जानकारी मानव संपदा पोर्टल पर अपलोड की जाएंगी. उत्तर प्रदेश के अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मोहसिन रजा ने इस बात की जानकारी दी. उन्होंने कहा कि मदरसों में शिक्षकों के नाम पर फर्जीवाड़ा अब नहीं चलेगा. उत्तर प्रदेश सरकार मदरसा शिक्षकों की गड़बड़ियों को रोकने के लिए मदरसा शिक्षकों का विवरण मानव संपदा पोर्टल पर फीड किया जा रहा है.

उन्होंने कहा कि इससे वे मदरसा शिक्षक भी पकड़ में आ जाएंगे, जो एक साथ कई मदरसों में काम कर रहे हैं. साथ ही सभी मदरसा शिक्षकों का विवरण एक स्थान पर मिल जाएगा. उन्होंने बताया कि सरकार मदरसा शिक्षकों के लिए तबादला नीति पर भी विचार कर रही है. इससे न सिर्फ पारदर्शिता आएगी, बल्कि मदरसा शिक्षा में भी सुधार होगा.

बता दें कि उत्तर प्रदेश में 560 अनुदानित मदरसे हैं. इनमें नौ हजार शिक्षक पढ़ाते हैं. इनका वेतन प्रदेश सरकार देती है.पहले चरण में अनुदानित मदरसा शिक्षकों का विवरण मानव संपदा पोर्टल पर फीड किया जाएगा. इसके बाद दूसरे चरण में मान्यता प्राप्त अन्य मदरसा शिक्षकों के विवरण ऑनलाइन किए जाएंगे. कई बार मदरसा प्रबंधक मान्यता लेने के लिए दूसरे मदरसों के शिक्षकों को अपने यहां का बता देते हैं. इस पर भी नई व्यवस्था से लगाम लगेगी.




Comments