बलिया : ग्रामीण क्षेत्र के एरिया में जिला पंचायत से बनेगा नाला


शहरी क्षेत्र में उसे जोड़कर जलनिकासी को बनाया जाएगा सुगम

तिखमपुर एरिया में कुछ ग्रामीण इलाका पड़ने पर हुआ विमर्श

बलिया। बरसात के दिनों में जलजमाव की समस्या को दूर करने के लिए जिलाधिकारी श्रीहरि प्रताप शाही कोई कोर कसर बाकी नहीं छोड़ना चाहते हैं। उनकी स्पष्ट मंशा है कि हर हाल में अप्रैल-मई से पहले आवश्यकतानुसार नालों का निर्माण कर कॉलोनियों की जल निकासी बेहतर बनाई जा सके। नाला निर्माण में नगर क्षेत्र के अलावा अगर कहीं ग्रामीण क्षेत्र की जमीन भी पड़ती है तो उस एरिया में जिला पंचायत के माध्यम से नाला का निर्माण कर उसे जोड़ा जाएगा।

इसी उद्देश्य से जिला पंचायत के हाल में  उन्होंने आधा दर्जन इंजीनियरों के साथ बैठक की। कहा कि इस कार्य में बढ़िया कांट्रेक्टर लग जाए तो निश्चित रूप से अच्छा व उपयोगी कार्य होगा। मंडी से एनसीसी तिराहा व कुंवर सिंह चौराहा होते कटहल नाला तक जल निकासी को बेहतर बनाना है। तकनीकी व व्यवहारिक दिक्कतों को दूर करते हुए इसके जरिए विभिन्न कालोनियों में जलनिकासी की समस्या को हर हाल में निपटा देना है। बैठक में तिखमपुर से एनसीसी तिराहा तक नाला बनाने वाली कर रही संस्था के ठेकेदार भी थे। डीएम श्री शाही ने उनसे कहा कि सीएनडीएस भी प्रोजेक्ट बना रहा है, उसमें अपेक्षित सहयोग कर जलनिकासी की बेहतर व्यवस्था में अपना भी योगदान दें। अन्य विभाग के इंजीनियर भी तकनीकी सहयोग में रहेंगे। महुवा मोड़ से तिखमपुर तक रोड की पूरी चौड़ाई को लेकर आई भ्रांति पर अपर मुख्याधिकारी रमेश सिंह को निर्देश दिया कि जिला पंचायत के रिकार्ड रूम को खोलवाएँ और देखें कि रिकार्ड में रोड की जमीन कहाँ तक है। बैठक में जिला पंचायत, लोनिवि, सिंचाई विभाग, सीएनडीएस के इंजीनियर थे।



Comments