योगी सरकार का बड़ा फैसला, ध्वस्त होंगी पुलिस महकमे की इस तरह की इमारतें

लखनऊ। पुलिस महकमे के इंफ्रास्ट्रक्चर में बदलाव को लेकर योगी सरकार ने महत्वपूर्ण फैसला लिया है। पुलिस महकमे में जर्जर हो चुकी इमारतों को ध्वस्त किया जाएगा। इसेक लिए पुलिस मुख्यालय ने प्रदेश के विभिन्न जिलों में पुलिस महकमे की जर्रर हो चुकी इमारतों को गिराने के लिए प्रस्ताव शासन को भेजा था। प्रस्ताव पास होने के बाद योजना को अमलीजामा पहनाने की कवायद तेज हो गई है।

यूपी में पुलिस विभाग के 25 भवन होंगे ध्वस्त

प्रदेश सरकार ने 25 भवनों को ध्वस्त करने से संबंधित प्रस्ताव को मंजूरी दी है। इससे प्रदेश के जौनपुर, इटावा, हरदोई, फतेहपुर, बुलंदशहर, वाराणसी व अलीगढ़ नें कलेक्ट्रेट या तहसीलों के अनावासीय भवनों के पुनर्निर्माण का रास्ता साफ हो गया है। इन भवनों के ध्वस्तीकरण से 2 करोड़ 10 लाख 24 हजार रुपये का नुकसान होगा। इसे बट्टे खाते में डालने का फैसला किया गया है।

गैर आवासीय भवनों का पुननिर्माण

जौनपुर के मछलीशहर, मड़ियाहू व केराकत तहसील, फतेहपुर में बिंदकी तहसील, हरदोई में शाहाबाद तहसील के अनावासीय भवनों का पुनर्निर्माण व वाराणसी के तहसील सदर के अनावासीय भवनों का निर्माण किया जाना है। इसी तरह इटावा कलेक्ट्रेट परिसर में सीआरए कार्यालय भवन और अलीगढ़ व बुलंदशहर कलेक्ट्रेट के अनावासीय भवनों का पुनर्निर्माण होना है।





Comments