मां को कुएं में धकेलेने के बाद ईट से मार-मार कर दी हत्या, हादसे का शक्ल देने कमरे में सुलाया

बिलासपुर. मरवाही क्षेत्र के बरटोला निवासी लल्ली बाई सेंद्राम की हत्या उसके ही सौतेले बेटे ने कुएं में धक्का देकर कर दी। किसी को हत्या का शक न हो इसके लिए आरोपी ने शव को बाहर निकाला व उसके कमरे के बिस्तर में लिटा दिया। आरोपी हत्या को स्वाभाविक मृत्यु साबित करना चाहता था। लेकिन आरोपी की मां की शिकायत पर पुलिस ने बेटे को गिरफ्तार कर जेल दाखिल कराया है।

पुलिस ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि पुरुषोत्तम सेन्द्राम की शादी लल्ली बाई से हुई थी। विवाह के काफी दिनों बाद भी जब कोई संतान नहीं हुई तो पुरुषोत्तम ने चंदन बाई से शादी कर ली। चंदन बाई के दो लड़के व दो लड़की है। दूसरी शादी के बाद भी पुरुषोत्तम सिंह की दोनों पत्नी लल्ली बाई व चन्दन बाई साथ रहते थे। कुछ दिनों से पारिवारिक विवाद के चलते लल्ली बाई अपना खाना अलग बना खा रही थी।

चंदन बाई का बड़ा बेटा चंद्रिका प्रसाद लल्ली बाई से अक्सर विवाद करता था। 7 दिसम्बर को लल्ली बाई घर के कुएं में पानी भर रही थी इस दौरान चंद्रिका ने उसे कुएं में धक्का दे दिया। कुएं से वह बाहर निकलने का प्रयास कर रही थी इस दौरान चंद्रिका ने ईंट फेंक वार किया इससे उसकी मौत हो गई। नाती अशोक ने वारदात को होता देख लिया और अपनी दादी चंदन बाई को बताया।

चंदन बाई ने पति को बताया रात में कुआं देखने पर कुछ दिखाई नहीं दिया, सुबह जब लल्ली के कमरे में जाकर देखा तो वह बिस्तर में मरी पड़ी थी। चंदन बाई ने मरवाही पुलिस को घटना की जानकारी दी। पुलिस ने हत्या के आरोपी चंद्रिका प्रसाद सेंद्राम व उसके सहयोगी रूप सिंह पिता स्वर्गीय रन्मत सिंह को गिरफ्तार कर जेल दाखिल करा दिया है।




Comments