युवक ने पहले पत्नी और 4 बच्चों को मौत के घाट उतारा, फिर खुद लगाई फांसी

उदयपुर से एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है. बताया जा रहा है कि एक युवक ने आर्थिक तंगी के चलते पहले अपनी पत्नी और चार बच्चों को मौत के घाट उतारा फिर फांसी लगाकर अपनी भी जान दे दी. पुलिस इस मामले की जांच में जुटी है.

उदयपुर के खेरवाड़ा थाना इलाके के रोबिया गांव में एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी और 4 बच्चों की हत्या करने के बाद आत्महत्या कर ली. देर रात हुई इस घटना की जानकारी पुलिस को शुक्रवार सुबह मिली. जानकारी मिलने पर पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंचे और मामला दर्ज किया. प्राथमिक जानकारी के आधार पर सामने आया कि बीती रात पति-पत्नी में किसी बात को लेकर कहासुनी हुई थी और उसके बाद गुस्से में पति ने अपनी पत्नी और चार बच्चों, जिसमें दो लड़कियां और दो लड़के शामिल हैं, की धारदार हथियार से हत्या कर दी. 

परिवार के पांच सदस्यों की हत्या करने के बाद वह युवक खुद भी एक पेड़ पर फांसी के फंदे से लटक गया. पुलिस ने जांच के लिए एफएसएल को मौके पर साक्ष्य को इकट्ठा करने बुलाया. पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है.

इस घटना का पता लोगों तब लगा, जब रोबिया गांव के लोगों ने एक पेड़ से युवक का शव लटके देखा. जब लोग उसके घर इस घटना की जानकारी देने पहुंचे तो वहां मकान के बाहर ताला लगा हुआ था. लेकिन घर के बाहर बह रहे खून के सूखने के निशान थे. फिर इसकी जानकारी ग्रामीणों ने पुलिस को दी. मौके पर पहुंची पुलिस ताला तोड़कर घर में घुसी तो वहां का मंजर दिल दहलाने वाला था. घर के अंदर फांसी लगाने वाले युवक की पत्नी तथा चार मासूम बच्चों के रक्तरंजित शव पड़े हुए थे. उनकी हत्या धारदार हथियार से गला काटकर की गई थी. 

आर्थिक तंगी से परेशान था युवक 

पुलिस ने युवक की पहचान रणजीत मीणा (30 वर्ष) के रूप में की. जिनकी हत्या की गई उनमें रणजीत की पत्नी कोकिला, उसके चार बच्चों में छह वर्षीय जसोदा, पांच वर्षीय लोकेश, चार वर्षीय गंजी तथा एक वर्षीया गुड्डी शामिल थी. 

पुलिस अधीक्षक कैलाश विश्नोई का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आने के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी. लेकिन स्थानीय लोगों से पूछताछ में पता चला है कि रणजीत की लॉकडाउन में नौकरी चली गई थी. तभी से पूरा परिवार आर्थिक तंगी के दौर से गुजर रहा था. 



Comments