प्रख्यात शिक्षाविद् डॉ0 जगदीश गांधी ‘लाइफटाइम एचीचमेन्ट अवार्ड’ से सम्मानित

लखनऊ, 15 दिसम्बर। सिटी मोन्टेसरी स्कूल के संस्थापक एवं प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी को शिक्षा के क्षेत्र में अतुलनीय योगदान हेतु ‘जीवन गौरव पुरस्कार’ (लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड) से सम्मानित किया गया है। एम.आई.टी. वल्र्ड पीस यूनिवर्सिटी, पुणे द्वारा आज आनलाइन आयोजित चतुर्थ राष्ट्रीय शिक्षक समारोह के अवसर पर डा. जगदीश गाँधी को इस प्रतिष्ठित सम्मान से नवाजा गया। इस भव्य समारोह का आयोजन महाराष्ट्र सरकार एवं यूनेस्को (संयुक्त राष्ट्र शैक्षिक, वैज्ञानिक और सांस्कृतिक संगठन) के सहयोग से किया जा रहा है। इस अवसर पर श्री मुरली मनोहर जोशी, पूर्व संसद सदस्य, डा. नजमा हेपतुल्ला, गवर्नर, मणिपुर, पद्म विभूषण डाॅ. आर.ए. माशेलकर, चांसलर, इंस्टीट्यूट आफ केमिकल इंस्टीट्यूशन, मुम्बई, डा. के. कस्तूरीरंजन, पूर्व प्रमुख, भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो), श्री एरिक फाल्ट, डायरेक्टर आफ यूनेस्को, नई दिल्ली, प्रोफेसर डा. आर.एम. चिटनिस, प्रो-वाइस चांसलर, एम.आई.टी. वल्र्ड पीस यूनिवर्सिटी समेत कई गणमान्य हस्तियों ने समारोह की गरिमा को बढ़ाया। 

सी.एम.एस. के मुख्य जन सम्पर्क अधिकारी हरि ओम शर्मा ने बताया कि सम्मान समारोह में डा. गाँधी के व्यक्तित्व व कृतित्व पर एक फिल्म का प्रदर्शन किया, जिसमें शिक्षा के क्षेत्र में डा. गाँधी के 63 वर्षीय योगदान पर प्रकाश डाला गया। पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्री मुरली मनोहर जोशी एवं एम.आई.टी. के कार्यकारी अध्यक्ष राहुल वी. कराड ने शिक्षा के क्षेत्र में डा. गाँधी के योगदान की भूरि-भूरि प्रशंसा की।

इस अवसर पर डा. गाँधी ने सम्मान हेतु आभार प्रकट करते हुए कहा कि सिटी मोन्टेसरी स्कूल ने आज विश्व मानचित्र पर जो स्थान बनाया है, वह संस्था की कर्तव्यनिष्ठ प्रधानाचार्याओं, शिक्षकों एवं कार्यकर्ताओं की बदौलत ही संभव हो सका है। डा. गाँधी ने आगे कहा कि कोरोना काल में भी सी.एम.एस. शिक्षक विद्यालय के 56 हजार बच्चों को आनलाइन गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देने के लिए दिन-रात अथक परिश्रम कर रहे हैं।




Comments